भारत में कोरोना वायरस संक्रमित लोगों की संख्या 37 हजार के पार, 24 घंटे में 71 लोगों की मौत!

देश में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या बढ़ती ही जा रही है। स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के मुताबिक देश में अब तक 37 हज़ार से अधिक मामले सामने आ चुके हैं, वहीं कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा भी 1200 से अधिक हो गया है।   जागरण डॉट कॉम पर छपी खबर के …

भारत में कोरोना वायरस संक्रमित लोगों की संख्या 37 हजार के पार, 24 घंटे में 71 लोगों की मौत!
देश में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या बढ़ती ही जा रही है। स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के मुताबिक देश में अब तक 37 हज़ार से अधिक मामले सामने आ चुके हैं, वहीं कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा भी 1200 से अधिक हो गया है।   जागरण डॉट कॉम पर छपी खबर के अनुसार, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के मुताबिक शनिवार(2 मई) सुबह 8 बजे तक देश में कोरोना के 37,336 मामले सामने आ चुके हैं।   इनमें से 26.167 लोगों का अस्पताल में इलाज चल रहा है, वहीं 9950 लोग इससे ठीक हो चुके हैं। देश में कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा बढ़कर 1218 तक पहुंच गया है।   पिछले 24 घंटों की बात करें तो देश भर में कुल 2293 नए मामले सामने आए हैं। इस दौरान देश के अलग-अलग कोनों में कोरोना वायरस के कारण 71 लोगों की मौत भी सामने आई है। यह एक दिन में आए नए मामलों की सर्वाधिक संख्या है।   महाराष्ट्र में कोरोना वायरस का सबसे ज्यादा कहर है। राज्य में कोरोना वायरस के अब तक 11,506 मामले सामने आ चुके हैं। वहीं 1879 मरीज इससे ठीक हो चुके हैं।   महाराष्ट्र में 485 लोगों की मौत भी सामने आई है।दूसरे नंबर पर गुजरात में कुल 4721 मामले सामने आ चुके हैं, जिसमें से 735 लोग ठीक हो चुके हैं, वहीं राज्य में कोरोना वायरस के कारण 236 लोगों की मौत हो चुकी है।   तीसरे नंबर पर दिल्ली में कोरोना के अब तक 3,738 मरीज सामने आ चुके हैं, जिनमें से 1167 ठीक हो चुके हैं, राज्य में मौत का आंकड़ा 61 तक पहुंच गया है।   इसके बाद मध्य प्रदेश में कुल 2719 मामले सामने आए हैं। इसमें से 524 मरीज ठीक हो चुके है। एमपी में कोरोना वायरस के कारण 145 लोगों की मौत हो चुकी है।महाराष्ट्र, गुजरात के बाद मध्य प्रदेश में मौत का आंकड़ा सबसे ज्यादा है।   लॉकडाउन केंद्र ने शुक्रवार को 4 मई से 17 मई तक दो और हफ्तों के लिए चल रहे राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन को बढ़ा दिया, जबकि लाल, नारंगी और हरे रंग के क्षेत्रों में अलग-अलग सेट की अनुमति दी।